साल 2020 में नहीं दे पाए परीक्षार्थियों को मिलेगा मौका, जेईई एडवांस परीक्षा में हुआ ये बड़ा बदलाव

108 views   5 months ago

शिक्षा

Author :Shantosh Paul

जेईई एडवांस का आयोजन 23 भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) में विभिन्न स्नातक इंजीनियरिंग, विज्ञान और वास्तुकला पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए किया जाता है।

जेईई एडवांस 2021: आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज:

* जन्म प्रमाण पत्र, (यदि जन्म तिथि कक्षा 10 प्रमाण पत्र में उल्लिखित नहीं है)

*कक्षा १२ या समकक्ष, अंकतालिका

* पासपोर्ट के आकार की तस्वीर

*हस्ताक्षर की स्कैन की गई कॉपी

* आधार कार्ड

*जनरल-ईडब्ल्यूएस, एससी/एसटी, ओबीसी-एनसीएल के लिए श्रेणी प्रमाणपत्र, यदि लागू हो

*पीडब्ल्यूडी प्रमाण पत्र, यदि लागू हो

* स्क्राइब लेटर रिक्वेस्ट, केवल उन लोगों के लिए जिन्होंने पीडब्ल्यूडी को "हां" और स्क्राइब रिक्वेस्ट लेटर को "हां" के रूप में चुनने की योजना बनाई है।

* डीएस श्रेणी प्रमाणपत्र, यदि लागू हो

* नाम परिवर्तन दिखाने वाली राजपत्र अधिसूचना, केवल उन उम्मीदवारों के लिए जिनके नाम कक्षा 10 / जन्म प्रमाण पत्र के समान नहीं हैं।

यह निर्णय ऐसे छात्रों के लिए एक अवसर के रूप में उपलब्ध कराया गया है, जिनके पास वर्ष 2020 में जेईई-एडवांस्ड के लिए उपस्थित होने का आखिरी मौका था और वे परीक्षा से चूक गए थे। साथ ही, वे छात्र जिन्हें वर्ष 2021 में जेईई-मेन कटऑफ क्वालिफाई नहीं करने के कारण एडवांस के लिए योग्य घोषित नहीं किया गया है और पिछले वर्ष 2020 में जेईई-मेन कटऑफ क्वालिफाई करके एडवांस परीक्षा के लिए पात्र थे, लेकिन परीक्षा में शामिल नहीं हो सके।

जेईई-एडवांस्ड क्वालीफाई कर काउंसलिंग में शामिल होने के लिए सामान्य श्रेणी के विद्यार्थियों को औसतन 35 प्रतिशत, विषयवार 10 प्रतिशत ओबीसी एवं ईडब्ल्यूएस विद्यार्थियों को औसतन 31.5 प्रतिशत एवं विषयवार 9 प्रतिशत, एससी-एसटी एवं शारीरिक विकलांग विद्यार्थियों को औसतन 17.5 प्रतिशत एवं विषयवार 5 प्रतिशत अंक लाने होंगे ।